October 5, 2022

अब नहीं चला पाएंगे शराब पीकर कार, ड्राइविंग सीट पर बैठते ही बजेगा अलार्म

ड्रिंक एंड ड्राइविंग यानी शराब पीकर गाड़ी चलाना दुनिया भर में सड़क दुर्घटनाओं के प्रमुख कारणों में से एक है. इसकी वजह से हर साल हजारों लोगों की जान चली जाती है...

ड्रिंक एंड ड्राइविंग यानी शराब पीकर गाड़ी चलाना दुनिया भर में सड़क दुर्घटनाओं के प्रमुख कारणों में से एक है. इसकी वजह से हर साल हजारों लोगों की जान चली जाती है. यह ज्यादातर देशों में गैरकानूनी है. इस अपराध के लिए कड़ी सजा भी हो सकती है. बावजूद इसके ड्रिंक एंड ड्राइविंग के मामले कम नहीं हो रहे हैं. लेकिन क्या हो अगर आपकी कार खुद आपको गाड़ी चलाने से रोक दे.

अमेरिका में एक ऐसी टेक्नोलॉजी पर काम चल रहा है, जिससे शराब पीकर गाड़ी चलाने वाले ड्राइवर का पता लगाया जा सकता है. इस टेक्नोलॉजी को अल्कोहल इम्पेयरमेंट डिटेक्शन सिस्टम नाम दिया गया है. इसे सीधे कारों में इंस्टॉल किया जाएगा.

इस तरह काम करता है सिस्टम
शराब की मौजूदगी का पता लगाने वाला सिस्टम कई तरीकों से काम करता है. इस सिस्टम के जरिए लगातार ड्राइवर के चेहरे पर निगरानी रखी जाती है. यह सिस्टम ठीक उसी प्रकार काम करता है, जैसे ड्राइवर को अलर्ट रखने के लिए ड्राइवर डिटेक्शन सिस्टम काम करता है. अगर कोई ड्राइवर शराब पीकर गाड़ी चलाने के लिए बैठता है तो तुरंत एक अलार्म बजने लगता है. हालांकि, यह सिस्टम अभी पूरी तरह से डेवलप नहीं हुआ है. इस पर लगातार काम चल रहा है.

भारत में हर साल होती है हजारों लोगों की मौत
अमेरिका में अकेले साल 2020 में नशे में गाड़ी चलाने के कारण 11,000 से अधिक मौतें हुईं हैं. भारत की बात करें तो यहां नशे में गाड़ी चलाने की वजह से हर साल लगभग 8,300 लोगों की मौत हो जाती है. देखने में आता है अक्सर शराब के नशे में ड्राइवर खुद पर कंट्रोल खो बैठता है.  इस दौरान वह गाड़ी को कंट्रोल नहीं कर पाता. 

Leave a Reply

Your email address will not be published.