November 26, 2022

3 बच्चों की मां ने 93.4% के साथ पास की 10वीं की बोर्ड परीक्षा

1 min read
कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में 3 बच्चों की मां ने 10वीं की बोर्ड परीक्षा 93.4% अंक के साथ पास की है. सबरीना खालिक की शादी 2012 में हुई और तब उसने पढ़ाई छोड़ दी...

कश्मीर के कुपवाड़ा जिले में 3 बच्चों की मां ने 10वीं की बोर्ड परीक्षा 93.4% अंक के साथ पास की है. सबरीना खालिक की शादी 2012 में हुई और तब उसने पढ़ाई छोड़ दी थी. 10 साल गुज़रने का बाद फ़िर से पढ़ाई शुरू की. अब न सिर्फ़ उसने 10वीं की बोर्ड परीक्षा पास की बल्कि 500 में 467 अंक हसिल कर, डिस्टिंक्शन हसिल की है. ये जानकारी सबरीना खालिक के पड़ोसी अब्दुल राशिद के जरिए दी गई है.

आसान नहीं था पढ़ाई और परिवार में समायोजन
सज्जाद ने कहा कि जब सबरीना ने दोबारा पढ़ाई शुरु की तो उसे काफी मुश्किल आई. बच्चों को संभालने और घर के काम बाद वह पढ़ाई के लिए समय निकालती थी. उसने 500 में से 467 अंक प्राप्त किए हैं. उसे ए1 ग्रेड मिला है.

डीसी बोले, शिक्षा छोड़ चुके लोगों के लिए मिसाल
कुपवाड़ा के जिला उपायुक्त डी सागर दत्तात्रेय ने कहा कि जिला प्रशासन सबरीना को उसकी उपलब्धि पर सम्मानित करने जा रहा है.सबरीना को प्रोत्साहन की जरुरत है. हम चाहते हैं कि वह उन सभी लोगों के लिए हमारी एक ब्रांड अंबेस्डर बने जिन्होंने किन्हीं कारणो से अपनी पढ़ाई छोड़ दी है। वह फिर से शिक्षा शुरू करने वालों के लिए एक नजीर है.

जून-जुलाई में होती है परीक्षा
जम्मू कश्मीर में सर्दियों और गर्मियों के लिए अलग-अलग अकादमिक सत्र होते हैं. कश्मीर घाटी समेत प्रदेश के सभी पहाड़ी इलाकों में 10वीं और 12वीं की वार्षिक बोर्ड परीक्षाएं नवंबर से जनवरी के बीच होती हैं जबकि परिणाम फरवरी-मार्च में आता है. 10वीं और 12वीं की प्राइवेट वार्षिक परीक्षा जून-जुलाई में होती है. इस वर्ष जम्मू कश्मीर बोर्ड की प्राइवेट परीक्षा में 10वीं में 25078 छात्र शामिल हुए. इनमें से मात्र 8934 ही पास हुए हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.