August 9, 2022

संजय राउत की पत्नी को भेजा गया समन, सोमवार तक बढ़ी कस्टडी

1 min read
रविवार को संजय राउत के घर की तलाशी के दौरान ED को साढ़े ग्यारह लाख रुपए नकद मिले हैं. राउत या उनके परिवार के लोग इस रकम का सोर्स नहीं बता सके हैं. ED ने इस रिकवरी को अपनी जांच में दर्ज कर लिया है. पात्रा चॉल घोटाला 1,043 करोड़ रुपए का है. राउत इस केस में आरोपी हैं.

रविवार को ईडी की टीम ने सबसे पहले संजय के घर पर छापा मारा था. यहां सुबह 8 बजे से शाम तक सर्चिंग की गई थी. बाद में ईडी की टीम संजय को लेकर दफ्तर पहुंची थी. यहां 6 घंटे से ज्यादा संजय से पूछताछ हुई, उसके बाद ईडी ने आधी रात में संजय की गिरफ्तारी दिखाई थी. दूसरे दिन एक अगस्त को ईडी की टीम संजय को कोर्ट पहुंची थी. वहां से संजय को 4 अगस्त तक हिरासत में भेजा गया था. कोर्ट ने संजय को एक बार फिर ईडी की हिरासत में भेजा है. ईडी ने इससे पहले अदालत को बताया था कि शिवसेना सांसद और उनके परिवार को मुंबई में एक ‘चॉल’ के पुनर्विकास परियोजना में कथित अनियमितताओं से हासिल एक करोड़ रुपये ‘अपराध से आय’ के रूप में प्राप्त हुए.संजय को अब 8 अगस्त तक कस्टडी में भेजा है. यानी अब उन्हें 5 दिनों तक और हिरासत में ही रहना होगा.

राउत की पत्नी को भेजा गया समन
ईडी ने अब संजय राउत की पत्नी वर्षा राउत को मनी लॉन्ड्रिंग केस पात्रा चॉल जमीन घोटाले में तलब किया है. ईडी ने कहा है कि वर्षा राउत के खाते में लेनदेन की जानकारी मिलने के बाद उन्‍हें समन जारी किया गया है.सूत्रों की मानें तो ED दोनों को आमने-सामने बैठाकर पूछताछ कर सकती है. इससे पहले वर्षा राउत से ईडी ने दिसंबर 2020 में एक बार पीएमसी बैंक घोटाला मामले में पूछताछ की थी. तब प्रवीण राउत की पत्नी माधुरी राउत के जरिए उनके खाते में 55 लाख रुपये ट्रांसफर किए जाने के संबंध में पूछताछ हुई थी.

राउत के घर साढ़े ग्यारह लाख की नकदी मिली
रविवार को संजय राउत के घर की तलाशी के दौरान ED को साढ़े ग्यारह लाख रुपए नकद मिले हैं. राउत या उनके परिवार के लोग इस रकम का सोर्स नहीं बता सके हैं. ED ने इस रिकवरी को अपनी जांच में दर्ज कर लिया है. पात्रा चॉल घोटाला 1,043 करोड़ रुपए का है. राउत इस केस में आरोपी हैं.

संजय सच्चे शिवसैनिक, भ्रष्टाचार नहीं करेंगे: भाई सुनील
इधर, संजय राउत के भाई सुनील राउत ने कहा है कि ईडी द्वारा दिखाए गए सभी लेनदेन वैध हैं. हमें न्यायपालिका पर भरोसा है. आज कोर्ट ने उन्हें (संजय राउत) 8 अगस्त तक ईडी की हिरासत में भेजने का आदेश दिया है. संजय राउत बालासाहेब ठाकरे के सच्चे शिवसैनिक हैं, वे कभी कोई भ्रष्टाचार नहीं करेंगे. बीजेपी उनसे डरती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.