August 9, 2022

उत्तर प्रदेश में छापेमारी से मचा हड़कंप, आयकर विभाग पहुंची (सपा) नेताओं के आवास

1 min read
विभाग ने झांसी के तीन बड़े बिल्डर्स के घर छापेमारी कार्रवाई की है. IT डिपार्टमेंट ने बुधवार सुबह बसेरा बिल्डर्स और घनाराम कंट्रक्शन के मालिकों के ठिकानों पर छापा मारा है. घनाराम कंस्ट्रक्शन कंपनी समाजवादी पार्टी से जुड़े नेता श्याम सुंदर यादव की है.घानाराम कंस्ट्रक्शन का झांसी में कॉर्पोरेट कार्यालय है.

छापेमारी का सिलसिला थमने का नाम ही नहीं ले रहा है, पश्चिम बंगाल के शिक्षक भर्ती घोटाले के
छापमारी के बाद अब उत्तर प्रदेश तक यह पहुंच चुकी है. उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी (सपा) नेताओं पर जांच एजेंसियों का शिकंजा कसता जा रहा है. विभाग ने झांसी के तीन बड़े बिल्डर्स के घर छापेमारी कार्रवाई की है. उत्तर प्रदेश की बड़ी कंस्ट्रक्शन कंपनी घनाराम कंस्ट्रक्शन के ठिकानों पर बुधवार सुबह इनकम टैक्स की छापेमारी हुई है घनाराम कंस्ट्रक्शन के मालिक समाजवादी पार्टी के नेता श्याम सुंदर यादव और उनके भाई बिसन सिंह हैं.

सुबह सुबह पड़ी इनकम टैक्स की रैड
विभाग ने झांसी के तीन बड़े बिल्डर्स के घर छापेमारी कार्रवाई की है. IT डिपार्टमेंट ने बुधवार सुबह बसेरा बिल्डर्स और घनाराम कंट्रक्शन के मालिकों के ठिकानों पर छापा मारा है. घनाराम कंस्ट्रक्शन कंपनी समाजवादी पार्टी से जुड़े नेता श्याम सुंदर यादव की है.घानाराम कंस्ट्रक्शन का झांसी में कॉर्पोरेट कार्यालय है. आयकर की टीम झांसी के सिविल लाइंस स्थित कार्यालय व आवास पर छापेमारी कर रही है. इससे पहले सपा के पूर्व विधायक दीप नारायण यादव विजिलेंस की जांच के बाद अब श्याम सुंदर पर शिकंजा कस गया है.समाजवादी पार्टी से जुड़े नेता श्याम सुंदर ने इससे पहले बुंदेलखंड में तमाम डैम बनाए हैं. इसके अलावा आयकर विभाग ने रियल एस्टेट कारोबारी विजय सराओगी के यहां भी छापेमार कार्रवाई की है, जहां आयकर विभाग की कार्रवाई अभी भी जारी है.

कानपूर में भी छापेमारी की करवाई लगातार जारी
फिलहाल, कानपुर में भी राजेश यादव के घर के भीतर छापेमारी की कार्रवाई लगातार जारी है और आयकर विभाग की तीन टीमें घर के भीतर दस्तावेजों को खंगालने में लगी हुई हैं. वहीं, आसपास सुरक्षा के लिहाज से पुलिस फोर्स भी तैनात है. घर के किसी भी सदस्य को बाहर निकलते नहीं देखा गया है. हालांकि, इस बात की पुष्टि नहीं हो सकी है कि छापेमारी के वक्त रियल एस्टेट कारोबारी राजेश अंदर थे या नहीं.

आईटी विभाग में क्यों मारी छापेमारी?
आयकर विभाग को घनाराम कंस्ट्रक्शन कंपनी द्वारा फर्ज़ी दस्तावेजों के सहारे जमीनों का बेमाना करने के नाम पर धांधली की शिकायत मिली थी. इसी मामले में आयकर विभाग ने कंपनी के कानपूर झांसी लखनऊ दिल्ली समेत कई ठिकानो पर एक साथ छापेमारी शुरू की है. राजेश यादव के रियल एस्टेट कंपनी धनाराम इंफ्रा से संबंधों की बात सामने आ रही है. छापेमारी की कार्रवाई को झांसी से जोड़कर देखा जा रहा है, जहां आईटी टीम की छापेमारी जारी है.

आपको बता दें राकेश यादव का रीयल एस्टेट, प्लास्टिक फैक्ट्री, जींस निर्माता, छपाई कारोबार सहित कई प्रतिष्ठान हैं. आयकर विभाग की टीम ने यादव के घर, कारगिल पेट्रोल पंप, फैक्ट्री, उन्नाव स्थित फैक्ट्री और दिबियापुर की प्लास्टिक फैक्ट्री में छापा मारा है. इससे पहले कानपुर की आयकर विभाग की टीम ने झांसी शहर के 8 बड़े कारोबारियों और बिल्डरों के आवास, कंपनी और तमान ठिकानों पर छापेमारी की है, जिनमें बसेरा बिल्डर्स और घनाराम कंस्ट्रक्शन शामिल हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.