November 26, 2022

भारत में कोरोना की लहर से लाखों ग्रसित, जानें कहाँ पहुंचा आज का आंकड़ा ?

1 min read

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़ों के अनुसार, भारत में शुक्रवार को 1, 17, 100 नए कोविड-19 मामले दर्ज हुए, जो जून की शुरुआत से उच्चतम थे, जबकि सक्रिय मामले बढ़कर 3, 71, 363 हो गए। वहीँ ओमिक्रॉन के मामले बढ़कर 3, 007 हो गए हैं।

अब तक दर्ज किए गए कुल ओमिक्रॉन मामलों में से 1, 199 लोग ठीक हो गए हैं। महाराष्ट्र में सबसे अधिक 876 मामले दर्ज किए गए, इसके बाद दिल्ली में 465, कर्नाटक में 333, राजस्थान में 291, केरल में 284 और गुजरात में 204 मामले दर्ज किए गए।

राष्ट्रव्यापी मामलों में तेज उछाल के बीच, महाराष्ट्र ने गुरुवार को 36, 265 ताजा कोविड मामले दर्ज किए, जिसमें मुंबई में पिछले 24 घंटों में 31.7% की तेज वृद्धि दर्ज की गई। गुरुवार को अब तक का सबसे अधिक मामले दर्ज किए गए हैं।

इस बीच, दिल्ली में, पुष्टि किए गए ओमिक्रॉन मामलों में से किसी को भी ऑक्सीजन या वेंटिलेटर समर्थन की आवश्यकता नहीं है या अब तक आईसीयू में भर्ती नहीं किया गया है। स्वास्थ्य विभाग से प्राप्त आंकड़ों से पता चलता है। आंकड़ों के मुताबिक अब तक ओमिक्रॉन से कोई मौत नहीं हुई है। दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने भी गुरुवार को इसकी पुष्टि की।

आईआईटी कानपुर के प्रोफेसर का दावा

वहीँ, अगर कानपुर की बात करें तो, आईआईटी कानपुर के प्रोफेसर मनिंद्र अग्रवाल ने कोरोना महामारी की ये तीसरी लहर बतायी है। उन्होंने कहा है कि ये तीसरी लहर अप्रैल तक खत्म हो जाएगी। हालांकि, वैज्ञानिकों ने चेतावनी दी कि चुनाव के दौरान रैलियाँ कोरोना संक्रमण के लिए कोरोना विस्फोट साबित हो सकती है, क्योंकि इस तरह के समारोह में कोरोना दिशानिर्देशों का पालन करना आसान नहीं है। प्रोफेसर अग्रवाल ने कहा कि गाइडलाइंस का पालन किए बिना बड़ी संख्या में लोग चुनावी रैलियों में पहुँचते हैं तो संक्रमण का खतरा काफी हद तक बढ़ जाता है। ऐसे में सावधानी बरतने की जरूरत है। यदि ऐसे ही रैलियाँ होती हैं, तो संक्रमण को रफ्तार पकड़ने में समय नहीं लगेगा।

आपको बता दें, दिल्ली में पुष्टि किए गए अब तक ओमिक्रॉन मामलों में से किसी को भी ऑक्सीजन या वेंटिलेटर की जरूरत नहीं पड़ी है। अब तक किसी ओमिक्रॉन सक्रमित को आईसीयू में भर्ती नहीं किया गया है। स्वास्थ्य विभाग के दिए आंकड़ों से मालूम होता है कि आंकड़ों के मुताबिक अब तक ओमिक्रॉन से कोई मौत नहीं हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.