पाकिस्तान में सिविल वॉर के बाद सैन्य शासन लागू, कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए पंजाब प्रांत में सेना की टुकड़ियों तैनात

1 min read
Military rule imposed after civil war in Pakistan

पाकिस्तान में पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान की गिरफ्तारी के बाद हालात बद्तर हो गए हैं। एक तरह से गृह युद्ध जैसे हालात बन गए हैं। ऐसे में कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए पंजाब प्रांत में सेना की टुकड़ियों को तैनात किया गया है। साथ ही जानकारी के लिए आपको बता दे की आबादी के लिहाज से पंजाब प्रांत पाकिस्तान का सबसे बड़ा प्रांत है। इसमें 36 जिले हैं। पाकिस्तान सरकार ने संविधान के अनुच्छेद 245 और आतंकवाद विरोधी अधिनियम, 1997 की धारा 4 (3) (ii) के तहत सैन्य शासन लागू किया गया है। अब पाकिस्तानी सेना पंजाब प्रांत में व्याप्त तनाव और बिगड़ते हालात को कंट्रोल करने के लिए अपने तरीके से कोशिश करेगी।

वही अल-कादिर ट्रस्ट मामले में पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ PTI के अध्यक्ष इमरान खान को मंगलवार की दोपहर इस्लामाबाद हाईकोर्ट परिसर से गिरफ्तार किया गया था। इसके बाद पंजाब और बलूचिस्तान सरकारों ने मंगलवार को अपने-अपने प्रांतों में धारा 144 लागू कर दी। इंटरनेट को बंद कर दिया गया है। गुस्साए प्रदर्शनकारियों ने सरकारी इमारतों पर धावा बोल दिया और इमरान खान की नजरबंदी के जवाब में सड़कों को जाम कर दिया। साथ ही जबकि अल-कादिर यूनिवर्सिटी ट्रस्ट के खिलाफ उनके मुकदमे की सुनवाई एक विशेष जवाबदेही अदालत द्वारा की जा रही है। खान का प्रतिनिधित्व वकीलों के एक समूह द्वारा किया जा रहा है, जिसमें ख्वाजा हारिस, बैरिस्टर अली गोहर और एडवोकेट अली बुखारी शामिल हैं।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

© 2023 Rashtriya Hindi News. All Right Reserved.