August 9, 2022

लोकसभा और राज्यसभा में हुई महंगाई पर चर्चा, निर्मला सीतारमण ने ये दिया जवाब

1 min read
संसद के मानसून सत्र की शुरुआत से ही विपक्ष महंगाई पर सदन में चर्चा कराने की मांग को लेकर अड़ा हुआ था. केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बढ़ती महंगाई को लेकर जवाब दिया.

संसद के मानसून सत्र की शुरुआत से ही विपक्ष महंगाई पर सदन में चर्चा कराने की मांग को लेकर अड़ा हुआ था. केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बढ़ती महंगाई को लेकर जवाब दिया. वित्त मंत्री ने कहा कि जीएसटी को लेकर भ्रम की स्थिति दूर होनी चाहिए. पिछले दो हफ़्तों में लोकसभा और राज्यसभा दोनों ही सदनों में काम काज लगभग न के बराबर हुआ. सदन के भीतर और बाहर विपक्ष का हंगामा, विरोध और प्रदर्शन जारी था. लेकिन सोमवार को लोकसभा में और मंगलवार को राज्यसभा में मंहगाई पर करीब 6-6 घंटे की लगातार चर्चा हुई. जिससे राज्यसभा में बहस के दौरान कांग्रेस, टीएमसी और अन्य दलों ने सरकार को बढ़ती महंगाई के लिए जिम्मेदार ठहराया. दोनों सदनों में चर्चा के बाद वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने चर्चा का जवाब दिया. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि यह मोदी सरकार की ही आर्थिक नीतियों के कारण ही कोविड और मंदी के बावजूद भारत अच्छी हालत में बना हुआ है.

आगे बताया कि वैश्विक मंदी के इस दौर में जहां कई देश मंदी की चपेट में आ चुके हैं और कई देश मंदी की चपेट में आने वाले हैं, वहां भारत इस मंदी की पहुंच से दूर है. रुपये के लगातार गिरने पर वित्त मंत्री ने कहा कि रुपये अपेक्षाकृत काफी स्वस्थ और अच्छी हालत में है. वित्त मंत्री ने चर्चा के दौरान सरकार की उपलब्धियों को गिनाते हुए विपक्षी पार्टियों के कई आरोपों का जवाब भी दिया. जैसे कि उज्ज्वला योजना को लेकर कहा कि गैस का दाम हमारे हाथ में नहीं है. फिर भी हमने 35 करोड़ लोगों तक अपना वादा निभाया है. एलपीजी कवरेज 69 फीसदी से 100 प्रतिशत से ज़्यादा बढ़ा है. ये तभी सम्भव है जब लोग दोबारा गैस सिलेंडर ले रहे हैं, इसलिए ये कहना ग़लत है कि लोग दोबारा गैस भरवा नहीं पा रहे हैं.

हालांकि वित्त मंत्री ने बाद में अपना जवाब पूरा किया. जवाब के बाद कांग्रेस सांसद रंजीता रंजन ने कहा कि सरकार सदन में एक्सपोज हुई है, उसके पास विपक्ष के सवालों का कोई जवाब नहीं था. वित्त मंत्री ने अपने जवाब में सिर्फ देश को गुमराह किया है. कांग्रेस सांसद प्रमोद तिवारी ने कहा कि सरकार की पोल जनता के सामने खुल गई है अब हम सड़कों पर महंगाई के ख़िलाफ़ संघर्ष करेंगे. महंगाई का विरोध करने के लिए महाराष्ट्र से आने वाली कांग्रेस सांसद रजनी पाटिल ने सदन में बोलने से पहले गले में ‘गहना’ पहनने की कोशिश की लेकिन जब चेयर ने देखा कि ये गहना दरअसल विरोध के लिए लाया गया. सब्ज़ियों की माला थी जिस कारण इसे पहनने की इजाज़त नहीं दी गई. आम आदमी पार्टी (आप) के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद राघव चड्ढा  ने केंद्र सरकार को लगातार बढ़ते जीएसटी और महंगाई के लिए जिम्मेदार ठहराया. चड्ढा ने स्वर्ण मंदिर (गोल्डन टेम्पल) की सरायों पर जीएसटी लगाने के लिए भी केंद्र सरकार की निंदा की और इसे सिखों और पंजाबियों पर लगाया जाने वाला ‘औरंगजेब का जजिया टैक्स’ करार दिया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.