नीतीश कुमार के यू-टर्न के एक दिन बाद कांग्रेस की यात्रा आज बिहार मे ।

1 min read

बिहार ।

नीतीश कुमार की भाजपा नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) में वापसी के एक दिन बाद राहुल गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस की भारत जोड़ो न्याय यात्रा ने सोमवार को बिहार में प्रवेश किया। 2020 में विधानसभा चुनाव प्रचार के बाद से राहुल गांधी की राज्य की यह पहली यात्रा होगी। यात्रा का बिहार चरण किशनगंज से शुरू हुआ, जो भारी मुस्लिम आबादी के साथ कांग्रेस का गढ़ है। किशनगंज में राहुल गांधी का एक जनसभा को संबोधित करने का कार्यक्रम है, जिसके बाद मंगलवार को पड़ोसी जिले पूर्णिया में एक बड़ी रैली होगी। एक दिन बाद कटिहार में एक और रैली की योजना है। विभिन्न विपक्षी दलों को एक साथ लाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने वाले नीतीश कुमार के राज्य में यात्रा के दौरान राहुल गांधी के साथ मंच साझा करने की उम्मीद थी। राजद प्रमुख लालू यादव के 31 जनवरी को पूर्णिया या कटिहार में रैली में भाग लेने की संभावना है, बशर्ते प्रवर्तन निदेशालय के समन के मद्देनजर वह उपलब्ध हों। भाकपा (माले)-एल महासचिव दीपांकर भट्टाचार्य को भी पूर्णिया में रैली के लिए आमंत्रित किया गया है। यात्रा बिहार में तीन दिनों में चार जिलों से गुजरेगी और राहुल गांधी अररिया जिले के रास्ते गुरुवार को फिर पश्चिम बंगाल के लिए रवाना होंगे। वह कुछ दिन बाद झारखंड होते हुए बिहार लौटेंगे। बिहार में कई दिनों से जारी अनिश्चितता को समाप्त करते हुए नीतीश कुमार ने रविवार को मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा देते हुए राजद और कांग्रेस के महागठबंधन से नाता तोड़ लिया।

इस्तीफे के कुछ ही घंटे बाद उन्होंने भाजपा और राजग के अन्य घटक दलों के समर्थन से रिकॉर्ड नौवीं बार मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली। नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए कांग्रेस नेताओं ने राजग में शामिल होने के उनके फैसले की निंदा की और उन पर विश्वासघात का आरोप लगाया और कहा कि इससे इंडिया ब्लॉक पर कोई असर नहीं पड़ेगा। अपने ताजा जवाब में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने कहा कि यह पूरी तरह से विश्वासघात है। नीतीश कुमार ने बैठक बुलाई। पटना में अठारह दल मौजूद थे। यह बैठक बेंगलुरु और मुंबई में हुई। सभी बैठकों में नीतीश कुमार मौजूद रहे। उन्होंने ऐसा कोई संकेत नहीं दिया (कि वह इंडिया ब्लॉक से नाता तोड़ लेंगे)। यह अफसोस की बात है कि उन्होंने अंतिम समय में हमारे हाथ छोड़ दिए। उन्होंने कहा कि यह पूरी तरह से विश्वासघात है और बिहार के लोग इसके लिए उन्हें जल्द जवाब देंगे। आगामी लोकसभा चुनावों में भाजपा को टक्कर देने के लिए कई विपक्षी दलों ने इंडिया ब्लॉक का गठन किया था।

पत्रकार – देवाशीष शर्मा


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

© 2023 Rashtriya Hindi News. All Right Reserved.