October 5, 2022

BJP ने 2024 के चुनाव में ज्यादा बड़ी जीत के लिए बनाईं ये 4 रणनीति, ध्यान दें क्‍या है रणनीति

1 min read

भारतीय जनता पार्टी ने 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव के लिए कमर कस ली है. इसी के मद्देनजर हैदराबाद में इसी हफ्ते भाजपा की राष्ट्र कार्यकारिणी की बैठक होगी. इस बैठक में आम चुनाव से जुड़े चार अहम कामों की मुख्य रूप से समीक्षा की जाएगी. मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, इन चार अहम कामों में ‘मोदी की टोली’ कमिटी द्वारा प्रधानमंत्री के नेतृत्व में होने वाले चुनावी प्रचार का खाका खींचना, Modi@20’ किताब के संदेश को ज्यादा से ज्यादा प्रसारित करना, ऐसी 70 सीटों पर ध्यान केंद्रित करना जहां भाजपा को कभी जीत हासिल नहीं हुई और पिछले चुनावों में बीजेपी के लिए बुरा प्रदर्शन करने वाले करीब 76 हजार चुनाव बूथों पर ध्यान देना शामिल है.

भाजपा के एक वरिष्ठ नेता ने कहा, ‘2024 के चुनावों को लेकर पार्टी पूरी तरह सक्रिय है और इसकी दिशा राष्ट्रीय कार्यकारिणी बैठक में साफ हो जाएगी. हमें पूरा विश्वास है कि गरीबों के लिए चलाई गई विकास कार्यों और कल्याणकारी योजनाओं की वजह से नरेन्द्र मोदी सरकार को एक बार फिर से बड़ा जनादेश हासिल होगा. इस मकसद को हासिल करने के लिए चार कमिटियां बनाई गई हैं. एक है, ‘मोदी की टोली’ समिति, जिसकी अध्यक्षता वरिष्ठ नेता और राष्ट्रीय महासचिव तरुण चुघ करेंगे. ‘Modi@20’ समिति का नेतृत्व पूर्व केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर के पास होगा. पार्टी के लिए कमजोर साबित हुए 76 हजार बूथों पर ध्यान देने का काम राष्ट्रीय उपाध्यक्ष बैजयंत जय पांडा की अगुआई वाली कमिटी करेगी. इसी तरह वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान के नेतृत्व में बनी कमिटी उन 70 सीटों के लिए रणनीति बनाएगी, जिन पर भाजपा को कभी जीत हासिल नहीं हुई.

‘मोदी की टोली’ चुनावी दौरों पर रखेगी बारीक नजर
‘Modi@20’ समिति को प्रधानमंत्री के 20 साल के विजन पर चर्चा करने का काम सौंपा गया है. यह वो साल हैं, जब उन्होंने गुजरात और देश का नेतृत्व किया. यह चर्चा हाल में प्रकाशित किताब ‘Modi@20- Dreams Meet Delivery’ पर आधारित होगी. किताब में वरिष्ठ भाजपा नेता जैसे अमित शाह, वरिष्ठ नौकरशाह जैसे एनएसए अजित डोभाल, विदेश मंत्री एस. जयशंकर सहित विभिन्न क्षेत्रों के कई नामचीन लोगों के लेख शामिल हैं. किताब को लेकर भाजपा के नेता कहते हैं कि लोगों को पता होना चाहिए कि प्रधानमंत्री मोदी ने क्या-क्या किया और क्यों किया. उनकी दूरदृष्टि और मजबूत राजनीतिक इच्छाशक्ति का असर पीढ़ियों तक रहने वाला है. समिति किताब के संदेशों को ज़मीनी स्तर पर ले जाने के अलावा मोदी मॉडल पर चर्चाएं भी आयोजित करेगी. कमिटी सुनिश्चित करेगी कि राज्यों के पुस्तकालयों में किताब उपलब्ध हो.

आपको बता देइ कि,अब जबकि आम चुनाव में दो साल से भी कम का समय बचा है, भाजपा उन 70 लोकसभा सीटों का बारीकी से अध्ययन कर रही है, जहां वह आज तक जीत हासिल नहीं कर पाई है. एक बीजेपी नेता कहते हैं कि इससे जाहिर होता है कि पार्टी का उद्देश्य आने वाले लोकसभा चुनाव में 2019 से भी बड़ी जीत हासिल करना है. जिन सीटों पर भाजपा को कभी जीत हासिल नहीं हुई, उनमें से ज्यादातर दक्षिण और पश्चिम भारत की है. इनका बारीकी से अध्ययन किया जाएगा.

Leave a Reply

Your email address will not be published.