November 26, 2022

Assam Flood: बाढ़ के बीच मरीज को अस्पताल पहुंचाने के लिए असम के मंत्री परिमल शुक्लाबैद्य ने चलाई नाव

असम के अधिकांश बाढ़ प्रभावित जिलों में ब्रह्मपुत्र और बराक नदियां अपनी सहायक नदियों के साथ उफान पर हैं, .इसी बीच असम के परिवहन मंत्री परिमल शुक्लाबैद्य बाढ़ के बीच लोगों की मदद करते नज़र आए.

देश के पूर्वोत्तर राज्यों में बीते कुछ दिनों से लगातार हो रही बारिश के कारण काफी मुश्किल हालात पैदा हो गए हैं. असम, सिक्किम समेत कई राज्यों बीते सप्ताह जहां एक ओर भूस्खलन की कई घटनाएं देखने को मिली. वहीं असम के ज्यादातर इलाके नदियों का जलस्तर बढ़ने के कारण जलमग्न हो गए हैं.इसी बीच असम के परिवहन मंत्री परिमल शुक्लाबैद्य बाढ़ के बीच लोगों की मदद करते नज़र आए.

एनडीटीवी डॉटकॉम की एक खबर के मुताबिक असम के अधिकांश बाढ़ प्रभावित जिलों में ब्रह्मपुत्र और बराक नदियां अपनी सहायक नदियों के साथ उफान पर हैं. राज्य के कुल 35 जिलों में से 32 जिलों का बड़ा हिस्सा जलमग्न हो गया है. राज्य में लगभग 15 दिन पहले आई बाढ़ की लहर के बीच असम के परिवहन मंत्री परिमल सुक्लबैद्य एक ऐसे मरीज के लिए नाविक बने, जिन्हें अपने निर्धारित डायलिसिस के लिए अस्पताल जाना था. इस वीडियो में सुक्लबैद्य को एक छोटी नाव में बराक घाटी में बाढ़ से डूबी सड़क से जाते हुए देखा जा सकता है.

परिवहन मंत्री ने चलाई नाव
जानकारी के अनुसार शख्स को अपनी डायलिसिस के लिए अस्पताल जाना था. नदी के बढ़ रहे जलस्तर के कारण उसे दिक्कतों का सामना करना पड़ा. जिसके बाद परिवहन मंत्री परिमल उसकी मदद को आगे आए और खुद उसे नाव पर बैठा कर एक लकड़ी के चप्पू से नाव को बराक घाटी में बाढ़ वाली सड़क पार करते नजर आए.

32 जिलों में जलमग्न
असम में अधिकांश जिले ब्रह्मपुत्र और बराक नदियों के उफान के कारण जलमग्न हो गए हैं. बताया जा रहा है कि राज्य के कुल 36 जिलों में से 32 जिलों में भूमि का एक बड़ा हिस्सा ब्रह्मपुत्र और बराक नदियों के साथ ही उनकी सहायक नदियों के उफान पर होने के कारण जलमग्न हो गया है. बाढ़ का असर देखे जाने पर कई निचले इलाकों में लोगों को घुटने तक पानी में चलते हुए देखा जा रहा है. वहीं सेना और एनडीआरएफ की टीमों की मदद से कई इलाकों से हजारों लोगों का रेस्क्यू भी किया जा रहा है. बता दें कि परिवहन मंत्री परिमल असम के कछार जिले के सिलचर में डेरा डाले हुए हैं और तीनों जिलों के स्थानीय विधायकों, उपायुक्तों और वरिष्ठ अधिकारियों के साथ बराक घाटी में बाढ़ की स्थिति की निगरानी कर रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.